उज्जयिनी में साहित्य कुंभ का ऐतिहासिक आयोजन

उज्जयिनी में साहित्य कुंभ का ऐतिहासिक आयोजन

सप्तम् अखिल भारतीय शब्द प्रवाह साहित्य सम्मान समारोह में छः पुस्तकों का विमोचन,राष्ट्रीय पत्र-पत्रिका प्रदर्शनी एवं अखिल भारतीय कवयित्री सम्मेलन का भव्य आयोजन हुआ

6900_760486137414729_2575718544475197251_n

उज्जैन। शब्द प्रवाह साहित्य की सभी विधाओं के राष्ट्रीय स्तर के देश भर के साहित्यकारों का  सम्मान कर विलक्षण कार्य कर रहा है क्योंकि, शब्द ही अंततः किसी की पहचान बनकर हमेशा के लिए उसकी याद दिलाते है। साहित्य कुंभ से निकला साहित्यिक अमृत सभी साहित्यकारों को उनकी विधा के जरिये अजर-अमर बना देगा।

यह विचार शब्द प्रवाह साहित्यिक सांस्कृतिक एवं सामाजिक मंच और संवाद शोध संस्थान के तत्वावधान 19-20 मार्च 2016 को म.प्र. सामाजिक विज्ञान शोध संस्थान में आयोजित साहित्य कुंभ के मुख्य आयोजन में अध्यक्षीय उद्बोधन देते हुए वैदिक कान्ति परिषद, देहरादून के अध्यक्ष डॉ. आनंद सुमनसिंह ने व्यक्त किये। मुख्य अतिथि विक्रम विश्व विद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ. रामराजेश मिश्र ने उज्जैन के साहित्यिक स्वर्णिम अतीत को याद करते हुए कहा कि शब्द प्रवाह का यह साहित्य सम्मान अपने आप में विलक्षण और अविस्मरणीय है क्योंकि, साहित्य को जन-जन से जोड़कर  राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने वालों का सम्मान असली सम्मान है। गजल की बारीकियाँ विषय पर प्रसिद्ध गजलकार  डॉ. दरवेश भारती (नई दिल्ली) ने अपने विशेष उद्बोधन में गजल के सृजन, पर व्याख्यान दिया। अतिथि समाज सेवी श्री राजकुमार जैन राजन, जन अभियान परिषद के सम्भाग समन्वयक श्री वरूण आचार्य, वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. सतिन्दर कौर सलुजा ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

शब्द प्रवाह के सप्तम साहित्य सम्मान में टेपा सम्मेलन के संस्थापक और प्रसिद्ध व्यंग्यकार  डॉ. शिव शर्मा एवम् वरिष्ठ साहित्यकार श्री नरेन्द्र श्रीवास्तव नवनीत को शब्द साधक सम्मान अतिथियों द्वारा प्रदान किया गया। स्व. श्रीमती सरस्वती सिंह स्मृति सम्मान गजलकार डॉ. दरवेश भारती को, डॉ. आनन्दसिंह सुमन एवं अतिथियों द्वारा प्रदान किया गया। श्रीमती माया मालवेन्द्र बदेका शब्द प्रवाह गौरव सम्मान छिन्दवाड़ा के श्री देवेन्द्र कुमार मिश्रा, श्रीमती सत्यभामा शुकदेव त्रिवेदी स्मृति गीतकार सम्मान, मुजफ्फरपुर नगर के गीतकार डॉ. बी.के. मिश्रा, स्व. बालशौरि रेड्डी बाल साहित्य सम्मान श्रीमती प्रतिमा अखिलेश सिवनी को प्रदान किया गया। इं. प्रमोद शिरढोणकर बिरहमन स्मृति कविता सम्मान, श्रीमती मन्दाकिनी श्रीवास्तव दंतेवाड़ा एवं इं. प्रमोद शिरढोणकर बिरहमन स्मृति कथा सम्मान, संयुक्त रूप से श्री विजय कुमार सिकंदराबाद एवं डॉ. इन्दु गुप्ता फरीदाबाद को प्रदान किया गया। शब्द सहचर विशिष्ठ सम्मान श्रीमती श्रीति एवं श्री संदीप राशिनकर इंदौर को प्रदान किया गया। प्रतिभाकला मंच की निदेशक डॉ. पद्मजा रधुवंशी को सांस्कृतिक सम्मान प्रदान किया गया। विभिन्न कृतियों को पुरस्कृत करने के लिये प्रथम पुरूस्कार पंडित ज्वालाप्रसाद शाण्डिल्य दिव्य (हरिद्वार) एवं डॉ. अंजुल कंसल कनुप्रिया (इंदौर) को प्रदान किया गया। साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान डॉ. दीपेन्द्र शर्मा (धार), श्री अनिरूद्धसिंह सेंगर (गुना), श्रीमती कीर्ति श्रीवास्तव(भोपाल),   डॉ. स्वामीनाथ पाण्डे(उज्जैन) एवम् श्री अरविन्द शर्मा (भोपाल) को प्रदान किया गया। इस अवसर पर राजेश चौहान राज द्वारा सम्पादित नगर के साहित्यकारों की डायरेक्टरी शब्द शिल्पी -2, सहित यादों का दस्तावेज (कोमल वाधवानी प्रेरणा), बाकी सब बढिया है (देवेन्द्र कुमार मिश्रा), विश्वामित्र के राम (राधेश्याम पाठक उत्तम), शोषण के खिलाफ (विजय कुमार तन्हा), मालवी चौपाल(सम्पादन-राजेश रावल सुशील) का विमोचन अतिथियों द्वारा किया गया ।

इसके पूर्व अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। स्वागत भाषण शब्द-प्रवाह संपादक श्री संदीप सृजन ने दिया। अतिथि स्वागत संदीप सृजन, राजेश रावल, सुश्री माया मालवेन्द्र बदेका, श्रीमती मनीषा प्रधान, भंवरलाल जैन, पं0 अरविन्द त्रिवेदी, कमलेश व्यास, राजेश राज, राजेश राजकिरण, डॉ. हरीशकुमार सिंह, श्याम सुंदर पंडीत, गौरीशंकर उपाध्याय, देवेन्द्र सिंह सिसौदिया, डॉ. पिलकेन्द्र अरोरा, संजय जोशी सजग आदि ने किया। कार्यक्रम का संचालन श्री राजेश रावल ने एवं आभार संदीप सृजन ने  व्यक्त किया। आयोजन में नगर के प्रमुख साहित्यकार एवं श्रोता भारी संख्या में आदि उपस्थित थे।

10406461_1693157784274057_9022733391350367889_n मुख्य़ आयोजन की पूर्व संध्या पर सांदीपनी महाविद्यालय दशहरा मैदान पर राष्ट्रीय पत्र-पत्रिका प्रदर्शनी का आयोजन अनूठा रहा शब्द प्रवाह साहित्यिक सांस्कृतिक एवं सामाजिक मंच एवम् संवाद साहित्यिक सांस्कृतिक सामाजिक शोध संस्थान के साहित्य कुम्भ के अन्तर्गत सांदीपनि महाविद्यालय, उज्जैन में राष्ट्रीय पत्र-पत्रिका प्रदर्शनी का शुभारम्भ मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद् के उपाध्यक्ष श्री प्रदीप पाण्डे, पूर्व कुलपति डॉ रामराजेश मिश्र ,प्रेस क्लब अध्यक्ष विशाल हाड़ा, सांदीपनि महाविद्यालय के अध्यक्ष डॉ. योगेश शर्मा, ख्यात चित्रकार श्री संदीप राशिनकर, साहित्य मंथन के अध्यक्ष डॉ. हरीशकुमार सिंह ने दीप प्रज्ज्वलन कर किया। अतिथि स्वागत संदीप सृजन, राजेश रावल, पं0 अरविन्द त्रिवेदी, कमलेश व्यास, राजेशराज आदि ने किया। आयोजन में कवि मोहन सोनी, डॉ. देवेन्द्र जोशी, संजय जोशी सजग, दिनेश जैन हाईकमान आदि उपस्थित थे।

Untitled-1 copy इस अवसर पर संवाद साहित्यिक सांस्कृतिक सामाजिक शोध संस्थान द्वारा अखिल भारतीय कवयित्री सम्मेलन का आयोजन किया गया। कवयित्री सम्मेलन की अध्यक्षता डॉ. पुष्पा चौरसिया एवम् सारस्वत अतिथि माया मालवेन्द्र बदेका थाईलैंड रही। कवयित्री सम्मेलन में  आरती तिवारी (मंदसौर), मनीषा प्रधान(रीवा), कीर्ति मेहता कोमल (इन्दौर), डॉ. इन्दू गुप्ता(फरीदाबाद), श्रीति राशिनकर (इंदौर), मंदाकिनी श्रीवास्तव (दंतेवाड़ा), डॉ. अंजुल कंसल (इंदौर), रचना नन्दिनी सक्सेना(आगर), शशि निगम (इन्दौर), डॉ. सीमा जोशी, कोमल वाधवानी प्रेरणा, आशा गंगा शिरढोणकर, डॉ. चित्रा जैन, मीरा जैन, आशा टंडन,आदि ने काव्यपाठ किया। कवयित्री सम्मेलन मे स्वागत उद्बोधन शाश्वत सृजन की संपादक अर्पिता जैन ने दिया आभार संस्था सचिव भाव्या रावल ने माना.संचालन कीर्ति श्रीवास्तव (भोपाल) ने किया।

दो दिवसीय भव्य आयोजन में देश भर के कई विद्वानों ने अपनी भागीदारी दर्ज करवाई ।

 

 

 

shabdpravahujjain द्वारा

उज्जयिनी में साहित्य कुंभ का ऐतिहासिक आयोजन” पर एक टिप्पणी

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.